Subhash Yadav

एक दिन, ये लड़का, जिसका नाम सुभाष है, अपने दोस्तों के साथ अंतरिक्ष में घूम रहा था। सुभाष एक साहसी लड़का था, और उसने हमेशा से अंतरिक्ष से धरती पर छलांग लगाने का सपना देखा था।

उस दिन, सुभाष ने अपने दोस्तों को बताया कि वह अंतरिक्ष से धरती पर छलांग लगाने जा रहा है। उसके दोस्त उसे पागल समझे, लेकिन सुभाष ने उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया।

सुभाष के दोस्त ने उसे एक सेप्टी पहनने के लिए कहा, लेकिन उसने मना कर दिया। वे सुभाष को बिना किसी सुरक्षा उपाय के अंतरिक्ष से धरती पर छलांग लगाने से  रोकना चाहते थे।

सुभाष ने अपने दोस्तों को अलविदा कहा और अंतरिक्ष से धरती की ओर छलांग लगा दी। वह तेजी से धरती की ओर गिरने लगा।

सुभाष ने अपने जीवन के बारे में सोचा। उसने सोचा कि वह मरने जा रहा है। लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी।

अंत में, सुभाष ने धरती की सतह को छुआ। वह एक गहरी खाई में गिर गया, लेकिन वह बच गया।

सुभाष को अस्पताल ले जाया गया। वह कुछ हफ्तों तक अस्पताल में रहा, लेकिन वह ठीक हो गया।

सुभाष अपने साहसिक कार्य के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध हो गया। उसे “बिना सेप्टी के अंतरिक्ष से धरती पर छलांग लगाने वाला लड़का” के रूप में जाना जाने लगा।


Disclaimer:

वास्तव में सुभाष ने इस घटनाक्रम को सपने में देखा था। वास्तविकता में, किसी ने भी बिना सेप्टी के अंतरिक्ष से धरती पर छलांग नहीं लगाई है। यह एक बहुत ही खतरनाक काम होगा।